Ayurvedic Treatment for Diabetic Patients

Ayurvedic Expert CP Singh Chawla (B.Sc. Medical, D. Pharma Ayurvedic) has provided the best ayurvedic treatment for Diabetic Patients at home. which will treat Diabetes with his experience of 25 years in the field of Ayurveda. In This guide, Ayurvedic Expert CP Singh Chawla Ji has been able to provide relief to more than 1,00,000+ Diabetic Patients in the last 25 years. He says not to take shortcuts in this treatment course because it may not provide results as thought. There were also some patients who were on the verge of going to the hospital for diabetes problems But after this treatment guide. They were so happy as their Blood sugar had receded by using DYBE-10 Ayurvedic Capsule which is a Natural Insulin Stimulator.

The reason why this Diabetes ayurvedic treatment is best?

 

  • Jambu, Karkasa, Nahi, Gudmar, Methi seeds, Vijaysar:- These herbs Naturally stimulate the pancreas to secrete the insulin thereby controlling the glucose level in the body.
  • Giloy(Guduci): This is a miracle herb that increases the immunity of a person due to various diseases.
  •  Ashwaganda, shatawar: These two herbs are very useful in revitalizing the body due to fatigue and exertion.
  • Shilajit: This rare mineral in a purified natural form is very useful in the case of Neuropathy (Numbness in feet) and also acts as a diuretic as well as a Nervine tonic.
  • Neem Patra: It acts as a blood purifier and toxin remover from the body.
  •  Amla: A very good Rasaya, antioxidant, anti-aging, and having a rich source of vitamin C.
  • Jamun: It regularizes the urine output thus relieving excessive hunger, thirst, and tiredness.

*All the above statements are provided from Authorised Ayurvedic Books: Ayurvedic Pharmacopoeia of India, Bhav Prakash Nighantu, etc.

Ayurvedic Expert CP Singh Chawla Ji is providing a free cost guide for this problem without any monetary benefits. So that, it can help the patients which are deep problems with Blood Sugar.

Home Remedies For Diabetes:

डायबिटीज में लोगों को अपने खाने-पीने को लेकर बहुत सतर्क रहना पड़ता है. खाने में जरा सी लापरवाही से आपका शुगर लेवल बढ़ सकता है. डायबिटीज के मरीज को हेल्दी लाइफस्टाइल अपनानी चाहिए. इसके अलावा आपको वजन को भी कंट्रोल रखना बहुत जरूरी है. मधुमेह को नियंत्रण में लाने के लिए कई आयुर्वेदिक दवाओं और अर्क का इस्तेमाल किया जाता है. आयुर्वेद में ऐसी कई चीजें हैं जिनके इस्तेमाल से आप डायबिटीज को कंट्रोल रख सकते हैं. जानते हैं डायबिटीज के लक्षण और उपाय क्या हैं?

5683c248a7a03f6dc5367901bd9152c7 original Dr. Asma Herbals

डायबिटीज़ के लक्षण (Symptoms Of Diabetes)

टाइप-1 डायबिटीज के मरीज में लक्षण बहुत तेजी से दिखते हैं. जबकि टाइप-2 के मरीज में डायबिटीज के शुरुआती लक्षण काफी कम नजर आते हैं. टाइप-1 और टाइप-2 डायबिटीज के ये मुख्य लक्षण हैं

⦁ बहुत प्यास लगना
⦁ बार-बार टॉयलेट आना
⦁ बहुत भूख लगना
⦁ अचानक से वजन बढ़ना या कम होना
⦁ थकान
⦁ चिड़चिड़ापन
⦁ आंखों में धुंधलापन
⦁ घाव का देरी से भरना
⦁ स्किन इंफेक्शन
⦁ ओरल इंफेक्शन्स
⦁ वजाइनल इंफेक्शन्स

6f0de5ac2e8ff22b5006455ac4dba70e original Dr. Asma Herbals

डायबिटीज में आयुर्वेदिक दवा ( Ayurvedic Teatment And Home Remedies for Diabetes)

1- अंजीर के पत्ते- डायबिटीज के इलाज में अंजीर के पत्तों का इस्तेमाल किया जाता है. इसमें मधुमेह विरोधी गुण होते हैं, जिससे ब्लड शुगर का लेवल कम करने में मदद मिलती है. अंजीर के पत्तों को खाली पेट चबाने या पानी में उबाल कर पीने से मधुमेह कंट्रोल रहता है.

2- मेथी- डायबिटीज के रोगियों के लिए मेथी बहुत फायदेमंद होती है. मेथी के बीज का सेवन करने से ब्लड शुगर कंट्रोल रहता है. आप एक चम्मच मेथी के बीज को रात भर एक गिलास पानी में भिगोकर रख दे. सुबह खाली पेट इन बीजों और पानी को पी लें. इसके करीब 30 मिनट बाद तक कोई दूसरी चीज न खाएं. सप्ताह में 2 से 3 बार ऐसा करने से ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है.

3- दालचीनी- मसालों में दालचीनी का उपयोग सभी के घरों में होता है. दालचीनी के कई फायदे हैं. स्वाद और खुशबू बढ़ाने के अलावा डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए भी दालचीनी का उपयोग किया जाता है. इसमें मधुमेह विरोधी गुण पाए जाते हैं. दालचीने के उपयोग से ब्लड शुगर लेवल कम करने में मदद मिलती है. इसके लिए आपको हर रोज आधा चम्मच दालचीनी पाउडर का सेवन करना चाहिए.

4- अंगूर के बीज- अंगूर के बीजों में डायबिटीज को कंट्रोल करने वाले गुण पाए जाते हैं. इसमें विटामिन ई, फ्लेवोनोइड्स, लिनोलिक एसिड जैसे तत्व पाए जाते हैं. जो मधुमेह के इलाज में प्रभावशाली साबित होते हैं. आप अंगूर के बीज को पीस कर चूर्ण बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं.

olive oil 052616125905 Dr. Asma Herbals

5- जैतून का तेल- जैतून के तेल का इस्तेमाल करने से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल रहता है. इससे ट्राइग्लिसराइड्स का लेवल कम करने में सहायता मिलती है. इससे शरीर में ब्लड शुगर भी कंट्रोल रहता है. लंबे समय तक जैतून के तेल का इस्तेमाल करने से हार्ट की बीमारियों का खतरा भी कम हो जाता है.

6- लहसुन- सभी के घरों में लहसुन का इस्तेमाल किया जाता है. लहसुन खाने से कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिलती है. लहसुन खाने से मधुमेह भी कंट्रोल रहता है. रातभर लहसुन की 2-3 कलियों को पानी में भिगोकर सुबह खालीपेट इसे चबाकर खाने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है.

453124175 XS Dr. Asma Herbals

7- एलोवेरा- आजकल सभी के घरों में एलोवेरा का पौधा मिल जाएगा. पिछले काफी समय से आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल किया जा रहा है. मधुमेह में एलोवेरा जूस पीने से रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद मिलती है. एलोवेरा में हाइड्रोफिलिक फाइबर, ग्लूकोमानन और फाइटोस्टेरॉल जैसे तत्व होते हैं जिससे ब्लड शुगर को कम करने में मदद मिलती है.

8- नीम- नीम को कई आयुर्वेदिक दवाओं में इस्तेमाल किया जाता है. नीम के पत्ते और रस से डायबिटीज को कंट्रोल करने में भी मदद मिलती है. नीम में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं. इसके अलावी नीम में एंटी-डायबिटिक गुण भी पाए जाते हैं. इससे मधुमेह भी कंट्रोल रहता है.

9- आंवला- विटामिन सी से भरपूर आंवला डायबिटीज में भी फायदेमंद है. आंवला में हाइपोग्लाइसेमिक गुण होते हैं. आंवला खाने के 30 मिनट में ब्लड शुगर लेवल कम किया जा सकता है. आंवले के बीजों को पीसकर पाउडर के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है. इससे धीरे-धीरे शुगर लेवल भी कम हो जाता है.

9fd277c2d7dcff35aaa601144b840ad4 original Dr. Asma Herbals

10- जामुन के बीज- डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए जामुन के बीजों का भी इस्तेमाल किया जाता है. जामुन की गुठलियों को अच्छी तरह सुखाकर पीस लें. इस चूर्ण को सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लें. इससे डायबिटीज कंट्रोल करने में मदद मिलेगी. जामुन के सीजन पर आप इसे खूब खाएं. ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए फायेदमंद है.

Leave a Comment

Your email address will not be published.